Study in India Yojana’ to Focus on Foreign Students, Promote India as Study Destination

Study in India Yojana’ to Focus on Foreign Students, Promote India as Study Destination, Study in India Yojana Scheme Details:- Finance Minister Nirmala Sitharaman made several announcements in the budget speech of the Financial Year 2019-20. She said that the three high educational institutes of the country have started counting in 200 major institutions of the world. She has announced a provision of Rs 400 crore in the budget to promote world-class higher education institutes.

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त वर्ष 2019-20 के बजट भाषण में शिक्षा के क्षेत्र में कई अहम ऐलान किए | उन्होंने कहा कि देश के तीन उच्च शिक्षण संस्थानों की गिनती दुनिया के 200 प्रमुख संस्थानों में होने लगी है। उसने विश्व स्तरीय उच्च शिक्षा संस्थानों को बढ़ावा देने के लिए बजट में 400 करोड़ रुपये की व्यवस्था की घोषणा की है।

banksathi ifsc codes

Study in India Yojana-Budget 2019-20

  • Finance Minister will be started ‘Study in India’ Yojana to attract Foreign students to study in India.
  • She said that the new national Policy is coming in the field of education. The main aim to make India to a center of higher education.
  • We will create the board for the development of the game.
  • Skill scheme for 10 million students will be brought.
  • 2 million villages will be digital literacy.

वित्त मंत्री द्वारा भारत में अध्ययन के लिए विदेशी छात्रों को आकर्षित करने के लिएस्टडी इन इंडियायोजना शुरू की जाएगी।

  • शिक्षा के क्षेत्र में नई राष्ट्रीय नीति आ रही है। भारत को उच्च शिक्षा के केंद्र बनाने का मुख्य उद्देश्य।
  • हम खेल के विकास के लिए बोर्ड बनाएंगे।
  • 10 मिलियन छात्रों के लिए कौशल योजना लाई जाएगी।
  • 2 मिलियन गाँव डिजिटल साक्षर होंगे |

Study in India Yojana

स्टडी इन इंडियायोजना की शुरुआत

Ministry of Human Resource Development and the Foreign Ministry jointly launched the program called Study in India (studyinindia.gov.in). Now foreign students, who are interested in studying in India, can easily get admission in Indian universities.

मानव संसाधन विकास मंत्रालय और विदेश मंत्रालय ने संयुक्त रूप से स्टडी इन इंडिया (studyinindia.gov.in) नामक कार्यक्रम शुरू किया। अब जो विदेशी छात्र भारत में अध्ययन करने के इच्छुक हैं, वे भारतीय विश्वविद्यालयों में आसानी से प्रवेश ले सकते हैं।

Under the Study in India program, foreign students will be able to get admission in 160 premier educational institutions of the country including IIT and IIMs. So far, 10 to 15% of seats in higher education were reserved for foreign students.

स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत विदेशी छात्रों के लिए IIT और IIM समेत देश के 160 प्रीमियर शिक्षा संस्थानों में एडमिशन लेना आसान हो जाएगा. अब तक उच्च शिक्षा में 10 से 15% सीटें विदेशी छात्रों के लिए आरक्षित थीं। लेकिन इनमें से ज्यादातर सीटें खाली रह जाती हैं थी क्योंकि विदेशी छात्रों के लिए अलग-अलग संस्थाओं से संपर्क करके एडमिशन की प्रक्रिया को पूरा करना मुश्किल होता है |

एक ही जगह पर कर सकेंगे अप्लाई

Under the Study in India program, students can go directly to one place and apply for admission in all these higher institutions. All foreign students will get admission in some university according to their qualifications. In order to further this program, the government will spend Rs 150 crore in two years. The main goal of the Study In India program is to identify the world in the field of appropriate education of India.

स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम के अंतर्गत  छात्र सीधे एक ही जगह पर जाकर इन सभी उच्च संस्थानों में एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकेंगे | सभी विदेशी छात्रों को उनकी योग्यता के अनुसार किसी न किसी विश्वविद्यालय में एडमिशन मिल जाएगा | इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए सरकार 2 साल में 150 करोड़ रुपए खर्च करेगी | स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम का मुख्य लक्ष्य भारत की उचित शिक्षा के क्षेत्र में दुनिया में पहचान कायम करना है |

About 47,000 foreign students study in India, which comes from countries like Afghanistan, Nepal, Sri Lanka and Bangladesh besides African countries. Government of India aims to bring 1.5 lakh to two lakh foreign students to be brought to India by 2022.

भारत में करीब 47000 विदेशी छात्र पढ़ते हैं जो अफ्रीकी देशों के अलावा अफगानिस्तान, नेपाल, श्रीलंका और बांग्लादेश जैसे देशों से आते हैं | भारत सरकार का लक्ष्य है कि 2022 तक डेढ़ लाख से दो लाख विदेशी छात्रों को पढ़ने के लिए भारत में लाया जाए |

टॉप 25% मेधावी छात्रों की पूरी फीस माफ होगी

Under the Study in India program, the government will encourage students from 30 countries from Asia and Africa to study in India, including Nepal, Vietnam, Kazakhstan, Saudi Arabia, Nigeria, Thailand, Malaysia, Egypt, Kuwait, Iran, Sri Lanka, Bangladesh, Bhutan, Rwanda.

स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम के तहत सरकार फिलहाल एशिया और अफ्रीका के 30 देशों से छात्रों को भारत में अध्ययन के लिए प्रोत्साहित करेगी जिसमें नेपाल, वियतनाम कजाकिस्तान, सऊदी अरेबिया, नाइजीरिया, थाईलैंड, मलेशिया, इजिप्ट, कुवैत, ईरान, श्रीलंका ,बांग्लादेश, भूटान, रवांडा शामिल हैं |

To attract foreign students to study in India, the government will waive the full fees of top 25% meritorious students. The government will also relax the visa rules for these students so that foreign students can easily come to India and study.

विदेशी छात्रों को भारत में अध्ययन के लिए आकर्षित करने के लिए सरकार टॉप 25% मेधावी छात्रों की पूरी फीस माफ कर देगी |  सरकार इन स्टूडेंट्स के लिए वीजा नियमों में भी ढील देगी ताकि विदेशी छात्र आसानी से भारत में आकर पढ़ाई कर सके |

Under the Study in India program, students will get an opportunity for research and innovation, including enrollment in engineering, medical, pharmacy, architecture, etc.

स्टडी इन इंडिया कार्यक्रम के तहत छात्रों को इंजीनियरिंग, मेडिकल, फार्मेसी, आर्किटेक्चर आदि स्ट्रीम में दाखिले सहित रिसर्च व इनोवेशन का मौका मिलेगा.

स्टडी इन इंडिया वेबपोर्टल

The web portal named ‘Study in India’ will serve as a single window for foreign students interested in studying in India. Through the study in India web portal, foreign students will be able to obtain information about various institutions of India and will be able to apply directly for admission. Foreign students can apply for admission in Graduation, Post Graduation, Certificate Course, PhD Course through Study in India web portal.

स्टडी इन इंडिया नाम का वेबपोर्टल भारत में पढ़ने के इच्छुक विदेशी छात्रों के लिए सिंगल विंडो का काम करेगा | स्टडी इन इंडिया वेबपोर्टल के जरिए विदेशी छात्र भारत के विभिन्न संस्थानों की जानकारी हासिल कर पाएंगे और प्रवेश के लिए सीधा आवेदन भी कर सकेंगे | स्टडी इन इंडिया वेबपोर्टल के जरिए विदेशी छात्र ग्रेजुएशन, पोस्ट ग्रेजुएशन, सर्टिफिकेट कोर्स, पीएचडी कोर्स में प्रवेश के लिये आवेदन कर सकते है |

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.