डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना राजस्थान, Door to Door Yojana Garbage Launched in Jaipur

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना राजस्थान- Door to Door Garbage Yojana in Jaipur. Check Budget, Benefit, Scheme, Door to Door by Nagar Nigam Jaipur, jaipurmc.org 2019

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना राजस्थान, Door to Door Garbage Yojana Launched in Jaipur

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना जयपुर से शुरू

योजना का नाम

banksathi

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना

Door to Door Garbage Yojana

योजना संचालित की जाएगी

राजस्थान सरकार द्वारा

योजना का उद्घाटन

श्रीमती वसुंधरा राजे द्वारा

शुरू करने की तिथि:

8 मई 2017

योजना शुरू करने का तथ्य/ लक्ष्य

स्वच्छ भारत अभियान

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत

2 अक्टूबर 2014

स्वच्छ भारत अभियान उद्घाटन:

श्री नरेंद्र मोदी द्वारा

स्थान

नई दिल्ली

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना का लक्ष्य:

जयपुर शहर में गली-मोहल्लों में एकत्रित होने वाले कचरे को अब वंहा इकठा न करके आपके घर-घर नगर निगम की गाड़िया आएगी जिसमे आपको कचरा डालना हैं।

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना [Door to Door Garbage Yojana] से लाभ:

इससे से कचरे से पैदा होने वाली बीमारियों को रोका जा सकता हैं तथा साथ में ही शहर को स्वच्छ बनाया जायेगा।

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना किस विभाग के अधीन काम करेगी:

जयपुर नगर निगम

Budget

44.41 crore

देश में जयपुर की सफाई में रैंक:

225 रैंक

 

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना के शुरूआती इलाके:

मानसरोवर जोन के वार्ड 40 से 43 और सिविल लाइंस जोन के वार्ड 20, 21, 30 व 58

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना के गाड़ियों की संख्या:

56 वाहन, और अन्य 100 वाहनों के लिए बुकिंग

Official Site of Door to Door Garbage Yojana 2019.

jaipurmc.org

——————————————————————————————-

What is Door to Door Garbage Yojana? क्या हैं डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना?

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना के तहत राजस्थान की राजधानी जयपुर में इस योजना का उद्घाटन किया गया हैं। इस योजना के तहत शहर में सुबह 7 बजे से नगर निगम की गाड़िया आपके घर के पास आएगी, आपको इन गाड़ियों में अपने घर, मोहले आदि का इकठा किया हुआ कचरा डालना हैं। जिससे आपके घर, मोहले और आस-पास की जगह साफ-सुथरी रहें।

वसुंधरा राजे जयपुर में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण योजना का उद्घाटन करते हुए। – Door to Door Garbage Yojana 2019

——————————————————————————————-

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना पूरी जानकारी –  

इस योजना को वैसे तो औपचारिक रूप से 08 मई 2017 को लागु किया हैं मगर इसका निरक्षण 2 वर्ष पहले किया जा चूका हैं, जिसमे नगर निगम के 10 करोड़ रुपए के घोटाले की बात सामने आयी थी। रिक्शा खरीद, कूड़ा उठान से लेकर ठेकेदारों पर दो साल में 10 करोड़ से ज्यादा खर्च हो चुके हैं। फिर भी शहर के अंदर सफाई नहीं हो पा रही थी। प्रत्येक जोन में निर्धारित से कम संख्या में कूड़ा उठाने पहुंच रहे हैं लेकिन सफाई इंस्पेक्टर ज्यादा रिक्शों की रिपोर्ट लगाकर नगर निगम को चूना लगाने में लगे हुए हैं। अब राजस्थान सरकार और जयपुर नगर निगम ने इस योजना को पुनः अच्छी तरीके से लागु किया हैं। इसके लिए निगम ने 56 वाहन, और अन्य 100 वाहनों के लिए बुकिंग की हैं।

——————————————————————————————-

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना के लिए बजट:

राजस्थान सरकार ने डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना के लिए जयपुर नगर निगम को एक वित्तीय वर्ष के लिए 44.41 करोड़ रुपए का बजट पास किया हैं। जिसमे नगर निगम 56 वाहन खरीदेगा और 100 वाहनों के लिए बुकिंग की हैं जिसका पेमेंट अगले वर्ष के बजट में दिया जायेगा।

——————————————————————————————-

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना से लाभ:

राजस्थान सरकार ने डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना  [Door to Door Garbage Yojana] जयपुर वासियों के लिए निम्न लिखित बिंदुओं के कारण दी हैं:

  1. इस योजना के जरिये सुबह 7 बजे से लोगो के घर-घर जाकर कचरा उठाया जायेगा।
  2. इस योजना को चालू करने का एक महत्वपूर्ण लक्ष्य ये हैं की शहर में कचरा न फेलें, कोई बीमारी न हो, स्वच्छ शहर बनाया जाएँ।
  3. हर घर और मोहल्ले का कचरा इकठा करके शहर से बाहर ले जाकर उसको जलाया जायेगा।
  4. इससे से वायु प्रदूषण (बदबू) को रोका जा सके।
  5. स्मार्ट सिटी के तहत इस योजना का लागु होना अनिवार्य हैं।
  6. इससे आलसी लोगो के घर से कचरा लेकर उसे स्थान्तरित किया जायेगा।

——————————————————————————————-

स्वछता में जयपुर का स्थान:

देश के 100 सबसे स्वच्छ शहरों में जयपुर या यूँ कन्हे कि राजस्थान के किसी शहर को स्थान नहीं मिला हैं। देश के 500 सबसे स्वच्छ शहरों में जयपुर की 225 रैंक हैं। जल्द ही इस योजना के तहत इसकी रैंक सुधरने की पूरी उमींद हैं। देश का सबसे स्वच्छ शहर कर्नाटका का ‘मैसूर’ हैं। वाकई वंहा के लोगो को इस उपलब्धि के लिए गौरव हैं और हम उनकी सरहाना करते हैं।

——————————————————————————————-

डोर टू डोर कचरा संग्रहण योजना जयपुर के पहले क्षेत्र:

Door to Door Garbage Yojana 2019 :- इस योजना के जरिये राज्य की राजधानी जयपुर के मानसरोवर और सिविल लाइन के कुछ इलाके शामिल किये गए हैं। क्योकि ये योजना पहले भी लागु की गयी थी जिसमे ठेकेदारों की करतूतों के कारण फेल हो गयी थी, जिसके चलते सरकार और जयपुर नगर निगम ने कुछ इलाको में परिक्षण के लिए लागु किया हैं। जिसमे मानसरोवर जोन के वार्ड 40 से 43 और सिविल लाइंस जोन के वार्ड 20, 21, 30 व 58 क्षेत्र शामिल हैं।

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.