Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY) Benefit, Features, Goal, SGRY in Hindi

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY) सम्पूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना के लाभ, विशेषताएं, रोजगार 

 

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY)

Name of Yojana/ Scheme

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY)

banksathi ifsc codes

Powered By

Central Government of India

Launched By

PM Atal Bihari Vajpayee

Launched on

25th September 2001

SGRY Yojana Motive

The objective of the Comprehensive Rural Employment Scheme is to provide profitable employment for the rural poor. The goal of this scheme is to provide employment and food to the people in rural areas who live below the poverty line.

Who can take advantage of it?

1.       ग्रामीण क्षेत्रो में अतिरिक्त श्रम रोजहार के द्वारा खाद्य सुरक्षा तथा पौष्टिक स्तर में सुधार करना।

2.       ग्रामीण क्षेत्र सामुदायिक, सामाजिक तथा आर्थिक सम्पत्तियों का निर्माण करना।

3.       इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में मुफ्त में 50 लाख टन अनाज दिया जाता है।

4.       गांव में गरीबों की वित्तीय जरूरतों को पूरा करने से उन्हें काम का वेतन दिया जायेगा।

5.       आर्थिक एवं स्वास्थ्य विकास।

 

Govt will Donate for BPL/ Poorest

Its aim is to provide employment and food to the people in rural areas, which has 8 kg of wheat (8*5=40) / or cash of Rs. 40

Premium Divided

Central Government: 75%

State Level Government: 25%

लक्ष्य: ग्रामीण गरीबों के लिए लाभदायक रोजगार उपलब्ध करना।

Wage payment

For every wage, wheat of 40 rupees (8 kg 5 rupees per kg) and 40 rupees are provided.

Annual Budget

10,000 Crore

Get Full Details Below

——————————————————————————-

What is Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY)? – Introduction

The Sampoorna Grameen Rozgar Yojana scheme was started by Prime Minister Atal Bihari Vajpayee on September 25, 2001. The purpose of this scheme is to provide profitable employment to the rural poor, providing employment and food to those who live below the poverty line. This program was implemented through Panchayati Raj Institutions. For this, the government passes a budget of Rs 10,000 crore every year. Through this scheme, the government will provide Rs. 40 per day wage or 8 kg of wheat in exchange for work to the rural poor. 5 million tons will be given in the year. This scheme involves improving food security and nutritional level, economic and health development, community, social and economic properties etc. through additional labor employment in rural areas.

हेल्लो दोस्तों आपका सबसे पहले यहाँ पर स्वागत हैं, दोस्तों बताना चाहेंगे की Sampoorna Grameen रोजगार योजना 2001 में Prime Minister अटल बिहारी वाजपेयी ने शुरू की थी, जिसका उद्द्श्य Gramin एरिया में रह रहे ऐसे लोग जिनके बाद रोजगार नहीं हैं उन्हें रोजगार उपलब्ध करवाना और भोजन उपलब्ध करवाना हैं, इस योजना में गवर्नमेंट दुवारा 40 RS प्रति दिन और साथ में 8 kg अनाज एकदिन के काम के बदले उपलब्ध करवाना था, इस योजना में ग्रामीण क्षेत्रों में अतिरिक्त श्रम रोजगार के माध्यम से खाद्य सुरक्षा और पोषण स्तर, आर्थिक और स्वास्थ्य विकास, सामुदायिक, सामाजिक और आर्थिक गुणों आदि में सुधार करना शामिल है।

——————————————————————————-

सम्पूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना की विशेषताएँ:

  1. यह ग्रामीण क्षेत्रों में मजबूत समुदाय की संपत्ति बनाने, रोजगार और खाद्य सुरक्षा और आय प्रदान करने का उद्देश्य रखता है।
  2. यह कार्यक्रम आत्म-लक्ष्य महिलाओं, अनुसूचित जनजातियों, अनुसूचित जातियों और गरीब बच्चों के माता-पिता के सहायता के लिए हैं।
  3. एसजीआरवाई में मजदूरी देने के लिए, गरीबी रेखा से वंचित परिवारों को भी हर रोज रोजगार दिया जायेगा।
  4. इस योजना के लिए वार्षिक व्यय 10,000 करोड़ रुपये रखा गया हैं तथा इसमें 50 लाख टन के रूप में अनाज पर निवेश शामिल है।
  5. इस योजना के लिए केंद्र और राज्यों सरकारों के बीच इसका अनुपात 75:25 है।
  6. इस योजना का राज्य/ केंद्र सरकार द्वारा वित्त पोषित प्रसिद्ध संस्थानों और संगठनों द्वारा किए गए प्रभाव अध्ययनों (काम) द्वारा मूल्यांकन किया जा रहा है।
  7. ग्राम सभाओं को उनकी आवश्यकता के मुताबिक और उपलब्ध वित्त (धन राशि) के आधार पर ग्राम सभा की मंजूरी के साथ कोई भी काम मिल सकता है।
  8. 50% वित्तपोषण की राशि अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के क्षेत्रों में बुनियादी ढांचा विकास की सुविधा के लिए इस्तेमाल किया जाना आवश्यक है।
  9. जिला पंचायत और मध्यवर्ती पंचायत के परिसंपत्ति आवंटन से अनुसूचित जाति / जनजाति के लिए अभिप्रेत व्यक्तित्व प्राप्तकर्ता योजनाओं में 20-25% संपत्तियां समाप्त होनी चाहिए।

——————————————————————————-

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY) in Hindi

सम्पूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना की शुरुआत प्रधान मंत्री अटल बिहार वाजपेयी द्वारा 25 सितंबर, 2001 को की गयी। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण गरीबों के लिए लाभदायक रोजगार उपलब्ध करना, इसमें रोजगार और भोजन प्रदान प्रदान करना शामिल (40 रूपये की गेहूं (8 किलो 5 रूपये प्रति किलो की दर से) तथा 40 रूपये नकद प्रदान किये जाते है) है जो गरीबी रेखा से नीचे रहते हैं। यह कार्यक्रम पंचायती राज संस्थानों के माध्यम से लागू किया गया था। इस योजना से ग्रामीण क्षेत्रो में अतिरिक्त श्रम रोजगार के द्वारा खाद्य सुरक्षा तथा पौष्टिक स्तर में सुधार करन, आर्थिक एवं स्वास्थ्य विकास, सामुदायिक, सामाजिक तथा आर्थिक सम्पत्तियों का निर्माण करना आदि शामिल हैं। रोजगार बीमा योजना (ईएएस) और जवाहर ग्राम समृद्धि योजना (जेजीएसवाई) के प्रावधानों को मिलाकर सम्पूर्ण ग्रामीण रोज़गार योजना शुरू की गई।

——————————————————————————-

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana Main Goals are

(A) Primary Objectives: – To improve the food security and nutritional level through additional labor employment for the members of the families of labor-intensive in rural areas.

(B) Minor Objectives: – To create permanent community, social and economic assets and infrastructure development facilities in the rural areas, so that they can solve their initial problems.

——————————————————————————-

SGRY Scheme Eligibility

  1. Through this scheme, labor employment will be provided to all the families of the village or the surrounding area.
  2. Under this scheme, priority will be given to agricultural workers, unskilled laborers, marginal farmers, women and scheduled caste members.

——————————————————————————-

Distribution of Money & Wheat Under the SGRY Scheme

  1. 60% of the funds received from the government and the wheat are released directly to the Panchayat committees.
  2. 40% of the Jilla Parisad/ DRDA (जिला परिषद/डी.आर.डी.ए.) at district level Is spent in the plan.
  3. Total amount received and 22.50% of wheat is spent on personal benefit plans for SC/ ST.

——————————————————————————-

सम्पूर्ण ग्रामीण रोजगार योजना कार्य

SGRY के अन्तर्गत वे सभी कार्य करवाए जा सकते है, जिनमें स्थाई सामुदायिक सम्पत्तियों का निर्माण हो, लेकिन योजना के अन्तर्गत श्रम आधारित कार्यों पर बल दिया जायेगा तथा पुर्णतया निर्माण सामग्री आधारित कार्य नही करवाए जा सकते। यह भी ध्यान रखा जाता है कि कार्य टिकाऊ तथा लागत प्रभावी हो।

——————————————————————————-

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY) PDF, SGRY in Hindi

Sampoorna Grameen Rozgar Yojana (SGRY) is a scheme launched by the Central Government for the development of the rural poor. In 2001, this country was created to ensure the country’s plan that every poor people in the rural areas should get employment and food for which Give them jobs. Originally this scheme has been created by combining two different schemes. Employment Assurance Scheme (EAS) and Jawahar Gram Samrudhi Yojana (JGSY). Under this new scheme, the Government ensures that poverty line population below the rural area is provided free of cost with the employment of daily wages, through this, to free India from unemployment and to eliminate malnutrition from society

——————————————————————————-

About Page: 

You can get information about several types of Prime Minister schemes in our country from our page like Pradhan Mantri Suraksha Bima Yojana (PMSBY)Pradhan Mantri Jan Dhan Yojana (PMJDY)Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana (PMKVY)Pradhan Mantri Sahaj Bijli Har Ghar Yojana (Saubhagya Yojana)Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana (PMGSY)Pradhan Mantri Garib Kalyan YojanaPradhan Mantri Ujjwala Yojana (PMUY)Pradhan Mantri Gramodaya Yojana (PMGY)Pradhan Mantri Krishi Sinchai Yojana (PMKSY)Pradhan Mantri Rozgar Yojana PMRPYWe have not made any impact on our plans. Even if you have to ask something about it, then you will be able to solve your problems as soon as possible by giving your question in the comment box below.

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.